Helpline no: +91 8 9500 95000

हमारा लक्ष्य : भारत के सभी जिलों एवं भाषाओं
में पंचगव्य चिकित्सा शिक्षा की उपलब्धता.
गोमाता के गीत स्वास्थय कथा गौमाता की चिकित्सा ऑनलाइन चिकित्सा

पंचगव्य अब एक सम्पूर्ण चिकित्सा थेरेपी. एम. डी (पंचगव्य) में नामांकन के लिए पंजीकरण आरम्भ. पंजीकरण ऑनलाइन भी किया जा सकता है. नामांकन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराएँ. सभी गुरुकुल विस्तार केन्द्रों में केवल 35 सीटें. 10 महिलाओं का आरक्षित. सभी भारतीय भाषाओं में पंचगव्य चिकित्सा विज्ञान (गऊमाँ के गव्यों) की आधिकारिक पढाई (भारत सरकार, संसदीय बोर्ड द्वारा संचालित). हमारा नारा है - "गौमाँ से असाध्य नहीं कोई रोग" अधिक जानकारी के लिए हेल्पलाईन पर संपर्क करें 8 9500 95000 अथवा कांचीपुरम विस्तार केंद्र के लिए 9444 96 17 23 या गोषुनेत्री से 94 50 998 998 पर कॉल करें. ग्रीष्मऋतू परीक्षा (कांचीपुरम) 15 अप्रैल 2018 से आरम्भ (विस्तार केंद्र के शिष्यों के लिए परीक्षा की तिथि घोषित.) "एडवांस पंचगव्य थेरेपी" के लिए नामांकन आरम्भ, केवल 25 सीटें. योग्यता-एम.डी.(पंचगव्य), "गर्भ चिकित्सा विज्ञानम"(पंचगव्य) केवल महिलाओं के लिए. नामांकन आरम्भ. योग्यता-एम.डी.(पंचगव्य) mail : gomaata@gmail.com

ऑनलाइन नामांकन

सम्पर्क विस्तार केन्द्रम

नामांकन के लिए संपर्क करें 8 9500 95000

044 27 28 22 23

  विद्यापीठम विस्तार केन्द्रों का संपर्क

(தமிழ்நாடு तमिलनाडु)

 காஞ்சிபுரம் कांचीपुरम

हिंदी - 9444 96 17 23

தமிழ் 9444 08 73 09.
(महाराष्ट्र)

दिवे (पुणे) 98 23 722 459
राजापुर 86 988 988 19

नासिक 800 700 4334

कोल्हापुर 90750 93 952
(झारखण्ड)

जमशेदपु  90 313 80 625
( रियाणा)

फरीदाबाद 921 24 35 203
रोहतक 99 532 04 06 8

जींद 981 27 666 87
(दिल्ली)

गाजीपुर 98 919 51 577
(राजस्थान)

जयपुर 98 29 40 22 40

झुंझुनू 94135 79178

भादरिया 7976359673
(తెలంగాణా तेलंगना)

కొంగరకలాన్ कोंगराकलान 9010 647746

బిరంగూడ बिरमगुडा 9030 569 851
(ಕರ್ನಾಟಕ कर्नाटक)

 ಬೆಂಗಳೂರು बेंगलुरु 99 0 24 76 71 9
(കേരള केरल)

തൃച്ചുരെ त्रिशुर 94 96 17 05 08,
ആലപുഴ अल्पुज्हा

പറവൂര്‍ परवूर 949 674 5465.

(ଓଡିସା ओड़ीसा)

09565 30 56 48,

(मध्यप्रदेश)

कन्नौद 9926 1850 02,

कन्नौद 9926 1850 15.

(ગુજરાત गुजरात)

સુરત सूरत 8080 93 93 93

(उत्तर प्रदेश)

सोनभद्र 94153 91 209

(हिमाचल प्रदेश)

शिमला 9805641213

 

पंचगव्य चिकित्सा शिक्षा में नामांकन करने के लिए मार्गदर्शन

1) सर्वप्रथम भाषा का चुनाव करें. उसी आधार पर उस प्रदेश के गुरुकुल का चुनाव करें॰ पंचगव्य विद्यापीठम (पंचगव्य गुरूकुलम समूह की इकाई) भारत की सभी राष्ट्रभाषाओं में पंचगव्य चिकित्सा शिक्षा उपलब्ध करता है.
2) पंचगव्य विद्यापीठम विस्तार का चुनाव करें. कई प्रदेशों में एक से अधिक विस्तार केंद्र हैं. अत: इसे कई आधारों पर चुना जा सकता है.
पंचगव्य विद्यापीठम विस्तार
a. आचार्यों के आधार पर. (आचार्यों का विवरण जानने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ.)
आचार्य
b. संचालकों के आधार पर. (संचालकों का विवरण जानने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ.)
संचालक
नामांकन कराने के लिए आवेदन अपनी मातृभाषा के साथ – साथ अंगरेजी और हिन्दी में भी भरना आवश्यक है..
1) ऑनलाइन नामांकन कैसे करें?
2) विस्तार केन्द्रों पर जाकर नामांकन कैसे करें.
3) आवेदन पत्र को स्पीड पोस्ट से भेज कर नामांकन कैसे लें.

1) ऑनलाइन नामांकन के लिए नीचे लिंक पर जाएँ. और आवेदन पत्रों को भरें. (अपनी मातृभाषा के साथ – साथ हिंदी / अंगरेजी) का भी पत्र भरें. भरने से पहले भाषा और पंचगव्य विद्यापीठम विस्तार का चुनाव करना अनिवार्य है. पत्र भरते समय पता के अंतर्गत जिला कालम में ऑनलाइन दिए गए लिस्ट से ही अपने जिला का चुनाव करें. इस सम्बन्ध में कोई समस्या होने पर हेल्पलाईन +91 95 40 998 998 (सप्ताह में 6 दिन, सोमवार से शनिवार प्रात: 10 बजे से सायं 6 बजे तक.) पर कॉल किया जा सकता है.

2) विस्तार केन्द्रों पर जा कर भी नामांकन लिया जा सकता है. इसके लिए आपको संचालक से मिलने की आवश्यकता है. उनके पास आवेदन पत्र की हार्डकॉपी होती है. यह विवरण पुस्तिका में भी प्रकाशित है, जहाँ से काट कर लिया जा सकता है. उनके समक्ष भर कर भी नामांकन लिया जा सकता है. लेकिन (शुल्क राशि) देय राशि केवल पंचगव्य विद्यापीठम के खाते में ही भरा जाना चाहिए उसकी पर्ची संचालक / संचालिका को दी जानी चाहिए. खाता का विवरण इस प्रकार है.

Panchgavya Vidyapeetham, पंचगव्य विद्यापीठम
IFSC Code - SBIN 0016 285, आई एफ एस सी कोड
A/c No 36595 299 221, खाता संख्या
Walajabad, Kanchipuram 631 605.


3) नीचे दिए गए लिंक पर सभी भाषाओं में नामांकन पत्र दिया गया है जिसे डाउनलोड अथवा प्रिंट किया जा सकता है. इसके साथ (1) आपकी अंतिम शिक्षा की मार्कशीट की स्वहस्ताक्षरित कॉपी. (2) आवास प्रमाण पत्र के लिए इनमें से कोई एक संलग्न करें. (अ) आधार कार्ड की कॉपी (आ) ड्राइविंग लाइसेन्स की कॉपी (इ) वोटर कार्ड की कॉपी (ई) राशन कार्ड की कॉपी (3) जन्म प्रमाण पत्र के लिए 10 वीं. का प्रमाण पत्र अथवा ऊपर में से कोई एक.

किसी भी पाठ्यक्रम को ज्वाइन करने के लिए पंजीकरण शुल्क 5000 रुपये मात्र. जिसे आवेदन के समय जमा करना है. जो विद्यार्थी फार्म भर कर स्पीड पोस्ट से भेजते हैं वे पंजीकरण शुल्क जमा करने की पावती की कॉपी साथ संलग्न करें. तभी आवेदन पत्र स्वीकृत किया जा सकेगा. पंजीकरण शुल्क किसी भी स्थिति में वापस नहीं दी जा सकेगी.

शेष की राशि कक्षा प्रारंभ होने से पूर्व पंचगव्य विद्यापीठम के खाते में जमा कराना आवश्यक है. शेष की राशि को दो बार में पेय की जा सकती है. इसके लिए 1000 रुपये अधिक देना पड़ेगा. आवेदन पत्र मिलने के बाद आपको कक्षा प्रारम्भ होने की जानकारी दूरभाष से दे दी जाएगी। (आवेदन किसी भी कोरिअर से न भेजें. केवल स्पीड पोस्ट से ही भेजें.)

1) बारहवीं पास हों और आयु 18 से अधिक हो.
2) केवल दसवीं पास हो लेकिन आयु 25 से ज्यादा हो.
3) दसवीं से कम शिक्षा लेकिन आयु 30 से अधिक हो.
4) दसवीं/बारहवीं या कम के अंक पत्र (Mark Sheet) की 1 प्रति.
5) जन्म दिन प्रमाण पत्र की 1 प्रति
6) आवास प्रमाण पत्र की 1 प्रति.
7) 6 रंगीन पासपोर्ट चित्र तथा 6 स्टाम्प आकार चित्र.
8) रुपये 5,000 का डिमांड ड्राफ्ट (बैंक मांग पत्र) जो की निम्न पते पर जरी हो.
9) शेष राशि कक्षा प्रारंभ होने से पूर्व डिमांड ड्राफ्ट बनवा कर जमा कराएँ.

खाता का नाम – पंचगव्य विद्यापीठम, Panchgavya Vidyapeetham
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया State Bank Of India
वालजबाद शाखा Wallajabad Branch, चेन्नै / कांचीपुरम Kanchipuram.
खाता संख्या – (कैरेंट अकाउंट/Current Account) संख्या – A/c No 3659 5299 221
IFSC Code – SBIN 0016 285


नामांकन पत्र कहाँ भेजें ?

स्पीड पोस्ट से भेजने का पता पोस्ट (Only Speed Post) से भेजें.
पता : पंचगव्य गुरुकुलम / विद्यापीठम – PANCHGAVYA GURUKULAM
ग्राम : कटटावाक्कम – KATTAWAKKAM – Village
पोस्ट : तेनेरी – TENERI – Post
जिला : कांचीपुरम – KANCHIPURAM – Dist
पिन : 631 605. – PIN
राज्य : तमिलनाडु – TAMILNADU – Sate


आवेदकों के लिए जानने युक्त जानकारी

नामांकन के बाद पढाई के लिए चार प्रायोगिक कक्षा के सेमिनार जो की क्रम से 5, 5, 3 और 7 दिनों के होंगे में सभी में भाग लेना आवश्यक होगा. पहले के दो सेमिनार विस्तार केन्द्रों पर होगी. तीसर सेमिनार भारत भर के सभी विस्तार केन्द्रों (गुरुकुलों) के विद्यार्थियों का सामूहिक रूप से अलग – अलग प्रदेशों में (स्थानों) आयोजित की जाती है. चतुर्थ सेमिनार जिसके साथ परीक्षा भी होती है वह कांचीपुरम स्थित विद्यापीठम के परिसर में होगी.

कुल 160 घंटे की पढाई / प्रक्टिकल्स होगी. इसमें कुल मिला कर लगभग 1 वर्ष का समय लगता है.

उतीर्ण विद्यार्थी ”गव्यसिद्ध” कहलायेंगे. जिनके लिए दीक्षांत समारोह “पंचगव्य डॉक्टर असोसिएशन” भारत के किसी भी राज्य में आयोजित करेगा. जहाँ ”गव्यसिद्धों” को दीक्षांत किया जायेगा.

गव्यसिद्धों को अपने मरीजों के लिए पंचगव्य की औषधियों के निर्माण का पूर्ण अधिकार होगा.

इसके बाद गव्यसिद्धों को 2 वर्ष तक चिकित्सा अभ्याश विद्यापीठम के किसी आचार्य के सानिध्य में करना होता है. इसके लिए गव्यसिद्ध अपने गृह क्षेत्र में ही रह कर ऑनलाइन व्यवस्था के तहद विद्यापीठम के आचार्य के सानिध्य में चिकित्सा अभ्याश कर सकते हैं. 2 वर्ष के चिकित्सा अभ्याश पूरा होने के बाद पूर्ण गव्यसिद्ध कहलायेंगे और उन्हें पंचगव्य विद्यापीठम की ओर से अभ्यास पूर्णता प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा. गव्यसिद्ध यदि प्रोफेशनल रूप में मेडिकल अभ्याश करना चाहते हैं तो रजिस्ट्रेशन करा कर विश्व में कहीं भी चिकित्सा अभ्याश कर सकते हैं. (जिन देशों में भारत की शिक्षा को मान्यता प्राप्त है.) और अपने नाम के साथ गव्यसिद्ध डॉक्टर भी लिख सकते हैं. जैसे ”गव्यसिद्ध डॉ निरंजन भाई वर्मा”